उत्कर्ष विचार लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैंसभी दिखाएं

My Thoughts and Discuss on "Religion"

मेरे विचार : धर्म धर्म का शाब्दिक अर्थ तक नही जानते लोग,और स्वयं को धर्म अनुयायी कहते है । धारण करने योग्य सभी तत्व चाहे वह विचार,गुण,कर्म,व्यवहार,जो उद्देश्य,व जीवन का सच्चा अर्थ साकार करते है , एवं उन सिध्दांतों पर चलकर जीवन को श्रेष्ठता की प्राप्ति होती है । धर्म … और पढ़ें

हिंदी और मेरे विचार [Hindi Kya Hai]

हिंदी और मेरे विचार [Hindi Kya Hai] हिंदी और मेरे विचार हिंदी भाषा यह वो भाषा है जो हिन्दुओ के द्वारा बोलचाल और विचारों के आदान प्रदान के लिए सहज और वैज्ञानिक मानदंडों के आधार पर  विकसित की गयी थी,यह सम्पूर्ण हिंदुस्तान की भाषा रही है । सनातन काल में संस्कृ… और पढ़ें

दुम दार दोहा : ०१

महाशिव रात्रि ---------------- महादेव  को  था मिला,माँ  गौरा  का साथ । फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी,बनी महाशिव रात ।। रात    मंगल    फलदायी । साथ भर खुशियाँ लायी ।। मद ---- मदिरा कंचन कामिनी,और धरा का प्यार । आज जरूरत यह बने,चाहे  अंत  बिगार ।। बात  वो  ही  ना माने । सार इनक… और पढ़ें